हिंदी विशेषण क्या होते है? इसके कितने प्रकार होते हैं?

विशेषण का उपयोग बहुत ज्यादा करते है पर इसके बारे में जानते नहीं हैं क्योंकि हम हिंदी व्याकरण के बारे में अध्यन नहीं करते हैं आज हम इसी बारे में बात करने वाले हैं आइये जानते है कि विशेषण क्या होते है?

हिंदी विशेषण क्या होते है

विशेषण क्या है?

जो शब्द संज्ञा सर्वनाम की विशेषता बताता है उसे विशेषण कहते हैं ।

जैसे-

 सुंदर ,कुरूप ,नाटा, अच्छा, बुरा ,हल्का, भारी, चतुर, लालआदि।

 उदाहरण –

  • रीता वह सुंदर है 
  • नीता वह  कुरूप है ।
  • पांच लड़के पढ़ रहे हैं।
  • थोड़ा पानी पी लो।
  • यह कमल लाल है।

विशेषण के कार्य

विशेषण के निम्नलिखित प्रमुख कार्य हैं-

विशेषण संज्ञा और सर्वनाम के गुण दोष को बतलाता है।

उदाहरण –

  • मोनिका पढ़ने में तेज है।( गुण का बोध )
  • लेकिन वह डरपोक है।( दोष का बोध)

यह संज्ञा और सर्वनाम की निश्चित संख्या या परिणाम बताता है ।

उदाहरण –

  •  लडके दो आए थे।( निश्चित संख्या का बोध)
  •  दो लीटर दूध दो।( निश्चित परिणाम का बोध)

यह संज्ञा और सर्वनाम की अनिश्चित संख्या या परिणाम बताता है।

 उदाहरण –

  • कुछ लड़कियां आयी हैं।( अनिश्चित संख्या का बोध)
  • अधिक भोजन मत करो।(अनिश्चित  परिणाम का बोध )

यह  संज्ञा और सर्वनाम के क्षेत्र को सीमित करता है। उदाहरण

  •   लाल रुमाल लाओ ।( सिर्फ लाल काला, पीला नहीं )
  • उस कुत्ते को खिलाओ ।(किसी खास कुत्ते को, दूसरे को नहीं )

यह संज्ञा और सर्वनाम की दशा अवस्था आदि बताता है।

 उदाहरण –

  • तुम बीमार हो।( दशा का बोध)
  •  मैं जवान हूं ।(अवस्था का बोध )

इसे भी पढ़ें – संज्ञा क्या है? संज्ञा के कितने भेद होते हैं?

विशेषण के भेद

विशेषण के मुख्य चार भेद हैं-

  •  संख्यात्मक विश्लेषण 
  •  परिणाम वाचक विशेषण
  •  गुणवाचक विशेषण 
  • सार्वनामिक विशेषण 

संख्यावाचक विशेषण-

जिस विशेषण में संज्ञा और सर्वनाम की संख्या का बोध हो उसे संख्यावाचक विशेषण कहते हैं।

 उदाहरण

  •  चार लड़के आ रहे हैं (चार लड़के निश्चित संख्या) 
  • क्या कुछ लड़के जा रहे हैं (कुछ लड़के निश्चित संख्या)

 परिमाणवाचक विशेषण-

 जो विशेषण वस्तु के परिणाम या मात्रा का बोध कराया उसे परिणाम वाचक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण

  •  दो लीटर दूध दे।(दो लीटर निश्चित परिणाम )
  • तीन मीटर कपड़ा दे ।(तीन मीटर निश्चित परिणाम) थोड़ा दूध चाहिए।( थोड़ा दुध अनिश्चित परिणाम)
  • बहुत कपड़े चाहिए।( बहुत कपड़े निश्चित परिणाम)

 गुणवाचक विशेषण-

 जिस विशेषण से गुण, दोष, रंग, स्वभाव, दशा, अवस्था आदि का बोध हो उसे गुणवाचक विशेषण कहते हैं।

 उदाहरण

  •  वह भला अच्छा आदमी हैं ।(भला अच्छा गुणबोधक)
  •  मोहन बुरा दुष्ट लड़का है( बुरा दुष्ट अवगुण बोधक)
  • कपड़ा लाल पीला है। लाल पीला रंग बोधक)

सार्वनामिक विशेषण- 

 जो सर्वनाम विशेषण के रूप में प्रयुक्त हो उसे सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण 

  • यह देखो।( क्रिया के पहले -यह सर्वनाम)
  • यह फूल देखो।( संज्ञा के पहले- यह सर्वनामिक विशेषण )
  • वह लड़का खेलेगा।( संज्ञा के पहले- वह सार्वनामिक विशेष)

विशेषण से कुछ सवाल जवाब

विशेषण क्या है?

जो शब्द संज्ञा सर्वनाम की विशेषता बताता है उसे विशेषण कहते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.