AMP क्या है? कैसे काम करता है? Website में AMP कैसे लगाए

AMP क्या है? कैसे काम करता है? जब हम किसी भी वेबसाइट में Visit करते हैं तो कुछ Website तो जल्दी खुल जाती है या जल्दी लोड हो जाती हैं पर कुछ वेबसाइट इतनी ज्यादा Slow होती हैं कि वह मोबाइल में बहुत ही देरी में खुलती हैं जिससे कि यूजर को परेशानी होती है इसी समस्या से बचने के लिए गूगल ने AMP को बनाया है। यह सिर्फ मोबाइल में वर्क करता है AMP लगाने के बाद जब भी हम मोबाइल से किसी पेज को खोलेंगे तो AMP के कारण वह पेज बहुत ही तेजी से खुलता है।

AMP क्या है?

AMP का Full Form Accelerated Mobile Page (AMP) है जिसका अर्थ है मोबाइल पेज को तेज गति से चलना। यह आपकी Website के पेज को मोबाइल फ्रेंडली बनाकर उस पेज के Animation और Additional javascript को बंद कर देता है जिससे वह पेज आपके ब्राउजर में उस पेज को बहुत Speed से Load करता है जिससे कुछ सेकंड में आपको website ओपन हो जाती है इसे है AMP कहते हैं।

AMP कैसे चालू या On करें?

एमपी को चालू करना बहुत ही आसान होता है यदि आप वर्डप्रेस है अपनी वेबसाइट बना रहे हैं तो AMP प्लगइन को डाउनलोड करके इसे एक्टिवेट कर दें एक्टिवेट करने के बाद अपने वेबसाइट की AMP की सेटिंग कर ले AMP सेटिंग करने के बाद आपका पोस्ट AMP में कन्वर्ट हो जाएगा अब जब भी आपका कोई भी कंटेंट गूगल पर सर्च होगा तो उसका एमपी वर्जन आने लगेगा।

AMP के फायदे

  • आपकी वेबसाइट बहुत ही स्पीड से ओपन होती है।
  • AMP Website की Image को Smoothly Load करता है।
  • Website को बहुत जल्दी Rank करता है।
  • Post Rich Result में जल्दी आ जाती है।
  • किसी भी Browser को आसानी से Adjust हो जाता है।
  • Server Response को Improve कर देता है।

AMP के नुकसान

  • वेबसाइट में आने वाली एनीमेशन बंद हो जाते हैं।
  • AMP Website में Google Ads कभी कभी Load नहीं हो पाते हैं।
  • Revanue कम हो जाती है।
  • पेज को बहुत ही simple बना देता है।
  • Ads देर से लोड होते हैं।

AMP वेबसाइट में Google Adsense Ads कैसे लगाएं

आप अपनी वेबसाइट में दो तरीके से AMP Ads को लगा सकते हैं

  • Manual AMP Ads

Manual AMP Ads लगाना गूगल के एड्स के लगाने जैसा होता है इसमें हमें Adsense के कोड को अपनी वेबसाइट के पोस्ट या पेज में कहीं भी डालना होता है। कोड को डालने के बाद जब भी आप मोबाइल से वेबसाइट में visit करेंगे AMP Ads दखने लगेंगे।

  • Auto AMP Ads

Auto AMP Ads लगाना गूगल के अदर Auto Ads के लगाने जैसा होता है इसमें हमें है Auto Ads को Enable करना होता है और adsense कोड को वेबसाइट के Head में डालना होता है। कोड को डालने के बाद जब भी आप मोबाइल से वेबसाइट में visit करेंगे AMP Ads दखने लगेंगे।

AMP कैसे काम करता है?

AMP website के बिना उपयोग वाले HTML CSS Javascript को बंद कर देता है और आपके मोबाइल में सिर्फ वह HTML दिखता है जो आपकी वेबसाइट के लिए जरूरी होता है CSS Javascript  को बंद करने से कोड का size काम हो जाता है जिससे कि Website बहुत फास्ट लोड होती है। AMP सिर्फ मोबाइल पर ही काम करता है यह मोबाइल का सबसे lite वर्जन होता है।

💠 UPI क्या है?
💠 Barcode क्या होता है?
💠 Local Guide क्या है?
💠 Fastag क्या है?

AMP से जुड़े कुछ सवाल जवाब

AMP का Full Form क्या है?

Accelerated Mobile Page

AMP लगाना क्या जरूरी होता है?

नहीं, वेबसाइट में AMP लागाना जरूरी नहीं होता है पर यदि आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट जल्दी लोड हो और आपका bounce रेट भी कम हो तो आपको Website में AMP लगाना चाहिए।

क्या AMP से website के Layout और View में कोई फर्क पड़ता है?

यदि आप अपनी Website में AMP को लगाते हैं तो आपकी का Layout बदल जाता है और एनीमेशन भी बंद हो जाते है जिससे आपकी वेबसाइट का View पहले से बदल जाता है।

AMP लगाने से Website के Desktop View में भी बदलाव आता है?

जब हम अपनी वेबसाइट में AMP लगाते हैं तो उस वेबसाइट के Desktop इंटरफेस या View को कोई change नहीं होता है यह सिर्फ मोबाइल के लिए होता है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.