भारत की डिजिटल करेंसी ई-रूपी क्या है? कैसे कार्य करता है?

ई-रूपी भारत की डिजिटल करेंसी के रूप में अपनाया है हम डिजिटल करेंसी का उपयोग भारत में कुछ पेमेंट के रूप में कर सकते हैं। इसका उपयोग हम वित्त सेवा विभाग, स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्रालय में किया जा सकता है।

भारत में आया ई-रूपी अब इससे होगा सभी जगह काम

ई-रूपी क्या है?(E Rupee in hindi)

ई रूपी एक कैशलेस तथा संपर्क रहित (contactless) डिजिटल पेमेंट सिस्टम है जो नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया (NPCI) वित्त सेवा विभाग, स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा व्यक्ति विशेष तथा उद्देश्य विशेष हेतु बनाया गया है।

डिजिटल करेंसी की ओर कदम कदम बढ़ाते हुए भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक इलेक्ट्रॉनिक वाउचर पर आधारित डिजिटल पेमेंट सिस्टम ई रूपी लांच किया गया है।

ई-रूपी किस प्रकार कार्य करता है ?

ई रूपी एक कैशलेस तथा संपर्क रहित (contactless) डिजिटल पेमेंट माध्यम है जो कि सरकारी सेवाओं के लाभार्थियों के मोबाइल फोन पर एसएमएस (sms) अथवा QR code के माध्यम से भेजा जाएगा। यह एक प्रीपेड गिफ्ट वाउचर की तरह होगा जिसे बिना किसी क्रेडिट कार्ड अथवा डेबिट कार्ड या मोबाइल एप अथवा इंटरनेट बैंकिंग के सुविधा केंद्रों पर redeem किया जा सकेगा।

ई रूपी वाउचर सेवा प्रदाताओं तथा उनके लाभार्थियों को एक डिजिटल माध्यम से जुड़ेगा। जिससे लिए किसी भी प्रकार के प्रत्यक्ष संपर्क की आवश्यकता नही होगी।

ई रूपी वाउचर किस  प्रकार जारी किए जाते हैं?

ई रूपी पेमेंट सिस्टम नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा अपने यूपीआई प्लेटफार्म पर बनाया गया है जिसे बैंकों के माध्यम से जारी किया जाना है। कोई भी व्यापारिक अथवा सरकारी एजेंसी जो ई रूपी वाउचर को जारी करना चाहती है वह संबंधित बैंक के माध्यम से लाभार्थी व्यक्तियों तथा उद्देश्य के बारे में जानकारी देते हुए इन्हें जारी कर सकती है।

लाभार्थी व्यक्तियों की पहचान उनके मोबाइल नंबर तथा संबंधित संस्था के द्वारा बैंकों के माध्यम से जारी वाउचर क्रमांक से हो सकेगी। इस तरीके से यह वाउचर उसी व्यक्ति द्वारा इस्तेमाल किए जा सकेंगे जिसके लिए यह जारी किए गए।

ई रूपी का इस्तेमाल किस प्रकार से किया जा सकता है?

ई रूपी बाउचर का इस्तेमाल मुख्य रूप से सरकार द्वारा सामाजिक कल्याण की योजनाओं को संबंधित व्यक्ति तक पहुंचाने में किया जाएगा। यह वाउचर महिलाओं तथा बच्चों के कल्याण हेतु औषधि तथा पोषण संबंधी योजनाओं के अंतर्गत सहायता पहुंचाने हेतु किया जा सकेगा साथ ही टी बी उन्मूलन कार्यक्रम इलाज संबंधी योजनाएं जैसे आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना किसान संबंधी योजनाएं जैसे खाद सब्सिडी आदि में प्रमुख रूप से उपयोगी है।

सरकार के अनुसार इसका इस्तेमाल गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा भी अपने कर्मचारियों के कल्याण तथा सामाजिक कार्यक्रमों में किया जा सकता है।

ई रूपी का क्या महत्व है तथा यह डिजिटल करेंसी से किस प्रकार अलग है?

सरकार एक केंद्रीय बैंक द्वारा प्रायोजित डिजिटल करेंसी के लिए पूर्व से कार्य कर रही है, इसी दिशा में कार्य करते हुए ई रूपी की घोषणा की गई है जिससे भविष्य की डिजिटल करेंसी को क्रियान्वित करने में आने वाली समस्या से निपटा जा सके । वर्तमान में ई रूपी पूर्व से स्थापित भारतीय रुपए कीमत सही कार्य करेगा जो एक काल्पनिक करेंसी ना होकर एक वाउचर आधारित पेमेंट सिस्टम होगा जिस का भविष्य इसके अंतिम प्रयोग पर निर्भर करेगा।

ई रूपी के क्या लाभ हैं?

व्यवसायिक संस्थाओं के लिए लाभ

  • व्यवसायिक संस्थाएं इसके माध्यम से अपने कर्मचारियों के कल्याण हेतु यूपीआई प्रीपेड वाउचर जारी कर सकते हैं।
  • ई रूपी के माध्यम से संस्थाएं end to end डिजिटल ट्रांजैक्शन कर सकती हैं जिससे उन्हें कोई कार्ड या वाउचर जारी करने की आवश्यकता नहीं होगी जिससे उनके लागत में कमी आएगी।
  • इसके माध्यम से वे voucher utilization को track कर सकते हैं।
  • यह वाउचर प्रदान करने का अत्यंत सरल सुरक्षित तथा संपर्क रहित साधन है।

अस्पतालों के लिए लाभ

  • ई रूपी बाउचर एक वेरिफिकेशन कोड के द्वारा प्राधिकृत होगा जो कि लाभार्थी को प्रदान किया जाएगा।
  • इसके अंतर्गत किसी भी प्रकार के नकद को धारण करने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • इस ई रूपी बाउचर के लिए एक पूर्व निश्चित राशि जारी की जाएगी जिससे इसे redeem करना आसान होगा।

संबंधित व्यक्तियों के लिए लाभ

  • इसमें लाभार्थी को किसी प्रकार के वाउचर के प्रिंट आउट को धारण करने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • इसके अंतर्गत voucher को redeem करने हेतु 2 step की process ही होगी।
  • इसके अंतर्गत लाभार्थियों को को अपनी किसी प्रकार की निजी  जानकारियां साझा करना जरूरी नहीं होगा।
  • इसके अंतर्गत सुविधा का लाभ लेने हेतु लाभार्थियों को केवल मोबाइल फोन तथा जारी की गई ई रूपी  वाउचर की आवश्यकता होगी।

ई रूपी वाउचर को जारी करने हेतु संबंधित बैंक

  1. एसबीआई
  2. एचडीएफसी
  3. एक्सिस बैंक
  4. पंजाब नेशनल बैंक
  5. बैंक आफ बड़ौदा
  6. केनरा बैंक
  7. आईसीआईसीआई बैंक

ई-रूपी से जुड़े कुछ सवाल जवाब

ई-रूपी क्या है?

ई रूपी एक पेमेंट सिस्टम है जो नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया (एनपीसीआई) वित्त सेवा विभाग, स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा व्यक्ति विशेष तथा उद्देश्य विशेष हेतु बनाया गया है।

ई रूपी कैसे काम करता है?

ई रूपी एक कैशलेस डिजिटल पेमेंट माध्यम है जो कि सरकारी सेवाओं के लाभार्थियों के मोबाइल फोन पर एसएमएस (sms) अथवा QR code के माध्यम से भेजा जाएगा। इसे बैंकिंग के सुविधा केंद्रों पर redeem किया जा सकता है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.