प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 क्या है? इसके लाभ, आवेदन करें?

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना – प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा भारत को स्वास्थ्य के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने हेतु मास्टर प्लान। कोरोना जैसी महामारी से निपटना अब होगा संभव। आगामी 6 वर्षों में 64000 करोड़ रुपए खर्च कर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतरी में उठाया गया कदम।

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है?

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित योजना है जिसकी घोषणा वित्तीय वर्ष 2021-22 में की गई है। इस योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाते हुए ग्रामीण व शहरी क्षेत्र स्वास्थ्य सेवा में बेहतरी लाना शामिल है जिससे करोड़ों महामारी जैसी बीमारियों से निपटा जा सके।

इसे भी पढ़े – प्रधानमंत्री उम्मीद योजना क्या है?

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के क्या उद्देश्य हैं?

  • प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का मुख्य उद्देश्य देश के स्वास्थ्य के आधारभूत ढांचे को इस प्रकार विकसित करना है कि वह वर्तमान तथा भविष्य की महामारी से निपटने में सक्षम हो सकें।
  • इस योजना के अंतर्गत भारत के प्राथमिक द्वितीयक तथा तृतीयक स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए संस्थानों को आत्मनिर्भर बनाना है।
  • इसके अंतर्गत सूचना विज्ञान तकनीक के मदद से ब्लॉक जिला प्रादेशिक तथा राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित प्रयोगशालाओं को आपस में जोड़ना है जिससे बीमारियों की मॉनिटरिंग की व्यवस्था की जा सके।
  • इस योजना की मदद से महानगर स्तर पर प्रवेश के दौरान ही बीमारियों का पता लगाकर उन्हें महामारी बनने से रोकना प्रमुख उद्देश्य है।
  • इस योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य के क्षेत्र में निवेश करना शामिल है जिससे कोविड-19 जैसी महामारी के संबंध में अधिक अध्ययन कर भविष्य में उनके विस्तारित रूप को रोका जा सके।
  • इस योजना में मानव तथा जानवरों में तेजी से फैलने वाली बीमारियों के संबंध में रिसर्च को बढ़ावा देना शामिल है जिससे उनके रोकथाम के संबंध में त्वरित और प्रभावी कदम उठाए जा सकें।

प्रधानमंत्री आपने व स्वस्थ भारत योजना की मुख्य बातें

  • प्रधानमंत्री स्वास्थ्य भारत योजना की घोषणा 1 फरवरी 2021 को की गई जिसके अंतर्गत 64180 करोड रुपए की राशि आगामी 6 वर्षों के दौरान वित्तीय वर्ष 2025-26 तक स्वास्थ्य क्षेत्र में निवेश की जानी है।
  • यह योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के विस्तारित रूप के तहत कार्य करेगी।
  • इसके अंतर्गत ग्रामीण स्वास्थ्य के लिए 17788 वैलनेस सेंटर को 10 चिन्हित राज्य में तथा 11024 वैलनेस सेंटर सभी राज्यों में स्थापित किए जाने हैं।
  • इस योजना के तहत राष्ट्रीय बीमारी नियंत्रण केंद्र के अंतर्गत 5 प्रादेशिक तथा 20 क्षेत्रीय मॉनिटरिंग शाखाएं स्थापित की जाएंगी।
  • इस योजना के अंतर्गत केंद्रीय स्वास्थ्य सेवा पोर्टल को स्थापित किया जा रहा है जिसमें राज्यों की सभी प्रयोगशालाओं को एकीकृत मॉडल के रूप में जोड़ना शामिल है।
  • इस योजना के तहत एकीकृत नागरिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं की स्थापना भारत के प्रत्येक जिले में की जानी है इसके साथ ही ब्लॉक स्तर पर 3382 नवीन स्वास्थ्य इकाइयों की स्थापना 11 विशेष चिन्हित राज्यों में करना प्रस्तावित है।
  • इस योजना के अंतर्गत भारत के 32 हवाई अड्डा 11 अंतरराष्ट्रीय बंदरगाह पर प्रवेश के समय ही मौजूदा 33 नागरिक स्वास्थ्य इकाइयों के साथ 17 नवीन स्वास्थ्य जांच इकाइयों की स्थापना की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत 15 राष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकालीन ऑपरेशन सेंटर तथा 2 चलित हॉस्पिटल की स्थापना की जाएगी।
  • इस योजना के तहत एक राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान की स्थापना की जाएगी जो विश्व स्वास्थ संगठन के क्षेत्रीय रिसर्च प्लेटफार्म के रूप में कार्य करेगा इसके अंतर्गत विश्व स्तरीय क्लास 3 प्रयोगशालाओं की स्थापना विषाणु विज्ञान हेतु की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 को आगे बढ़ाते हुए नागरिक स्वास्थ्य क्षेत्र में किए जाने वाले खर्च को भारत के सकल घरेलू उत्पाद के मौजूदा 1.15% से बढ़ाकर 2.5% करने की योजना है जिसे 2025 तक एक सतत कार्यक्रम के अनुसार  बढ़ाना निश्चित किया गया है।

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना मुख्य रूप से कोरोनावायरस जैसी बीमारियों से निपटने के लिए एक प्रभावी कदम है इसके अंतर्गत भारत की स्वास्थ्य सेवा को बेहतर करना शामिल है जिसमें मौजूदा बीमारियों के साथ-साथ भविष्य के संभावित स्वास्थ्य खतरे से निपटना सुनिश्चित किया गया है। इस योजना के अंतर्गत नवीन प्रयोगशालाओं की मदद से विषाणु जनित बीमारियों को पता लगाने के साथ-साथ मौजूदा स्वास्थ्य आधारभूत ढांचे को विकसित करना शामिल किया गया है।

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना से जुड़े कुछ सवाल जवाब

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है?

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाते हुए ग्रामीण व शहरी क्षेत्र स्वास्थ्य सेवा में बेहतरी लाना शामिल है जिससे करोड़ों महामारी जैसी बीमारियों से निपटा जा सके।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना को कितने वर्षो में पूरा किया जाना है?

6 वर्षो में।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना में कितने पैसे खर्च होने हैं?

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना में 64000 करोड़ रुपए खर्च होने है जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाना है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.