बैडमिंटन खिलाडी किदांबी श्रीकांत का जीवन परिचय, जन्म, परिवार, अवार्ड 2021

बी डबल्यू एफ वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले प्रथम भारतीय पुरुष खिलाड़ी बने। सिल्वर मेडल जीतकर बढ़ाया देश का मान। सेमीफाइनल में अपने ही साथी खिलाड़ी लक्ष्य सेन को पछाड़कर स्थापित किया कीर्तिमान आइये जानते हैं किदांबी श्रीकांत के बारे में –

नामकिदांबी श्रीकांत
जन्म (Date of Birth)7 फरवरी 1993
उम्र(Age)28 वर्ष
जन्म स्थानआंध्र प्रदेश
पिताश्रीकांत नम्मलवर किदांबी
माताराधा
खिलाड़ीबैडमिंटन
कोचपुलेला गोपीचंद

किदांबी श्रीकांत कौन है? | Who is Srikanth Kidambi in Hindi

किदांबी श्रीकांत एक भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी है जिन्होंने इतिहास रचते हुए पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बने हैं जो वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीते हैं। इसके पूर्व भारत की ओर से प्रकाश पादुकोण (1983) एच एस  प्रनॉय (2019) तथा लक्ष्य सेन (2021) ने कांस्य पदक जीता है। श्रीकांत किदांबी ने गोपीचंद बैडमिंटन अकैडमी हैदराबाद से ही प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

किदांबी श्रीकांत का जन्म

श्रीकांत किदांबी का पूरा नाम श्रीकांत नम्मलवर किदांबी है, इनका जन्म आंध्र प्रदेश के रावुलपालेम में 7 फरवरी 1993 को एक तेलुगू फैमिली में हुआ था।

ये भी पढ़े – हरमनप्रीत सिंह कौन हैं?

किदांबी श्रीकांत का परिवार

किदांबी श्रीकांत के पिता केवीएस कृष्णा जमींदार तथा इनकी माता राधा ग्रहणी है श्रीकांत के बड़े भाई का नाम के नंद गोपाल है वे भी एक बैडमिंटन खिलाड़ी है। 

बैडमिंटन में करियर

किदांबी श्रीकांत को बचपन से ही बैडमिंटन में रुचि रही है उन्होंने इसे अपने कैरियर के रूप में चुना इनके द्वारा लगातार बैडमिंटन की दुनिया में अपना लोहा मनवाया है। किदांबी श्रीकांत के कोच पुलेला गोपीचंद है।

  1. वर्ष 2021 में स्पेन में हुए वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में के फाइनल में जगह बनाने वाले यह पहले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं साथ ही उन्होंने इस प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल भी जीता है
  2. वर्ष 2019 में नेपाल में हुए साउथ एशियन गेम्स में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए गोल्ड मेडल जीता।
  3. अप्रैल 2018 में किदांबी श्रीकांत वर्ल्ड नंबर वन रैंकिंग पर भी रहे हैं
  4. 2018 में गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में  मिक्स टीम इवेंट में गोल्ड तथा सिंगल इवेंट में सिल्वर मेडल जीता है।
  5. 2017 में के दाम भी युवा साई प्रणीत ने इतिहास कायम करते हुए पहली इंडियन युगल टीम बने जो बैडमिंटन रैंकिंग के फाइनल में जगह बना पाई इसके साथ ही वे इसी साल वर्ल्ड  बैडमिंटन रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंचे।
  6. वर्ष 2015 में श्रीकांत पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बने जिन्होंने स्विस ओपन ग्रैंड प्रिक्स गोल्ड में स्वर्ण पदक जीता।
  7. वर्ष 2013 में श्रीकांत ने थाईलैंड ओपन ग्रैंड प्रिक्स गोल्ड इवेंट में पुरुष एकल में स्वर्ण पदक जीता।
  8. वर्ष 2011 में श्रीकांत द्वारा कॉमन वेल्थ गेम्स कॉमनवेल्थ गेम्स में मिक्स डबल में खेलते हुए सिल्वर मेडल तथा डबल्स में कांस्य पदक जीता इसी साल पुणे में हुए जूनियर इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता।

अवार्ड इतिहास

श्रीकांत किदांबी के बैडमिंटन में प्रदर्शन को देखते हुए इन्हें पद्मश्री वर्ष 2018 में जो कि भारत का चौथा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान है तथा अर्जुन अवॉर्ड 2015 में प्रदान किया गया ।

श्रीकांत किदांबी के जीवन से जुड़े जवाब

श्रीकांत किदांबी जन्म कहां हुआ था?

श्रीकांत किदांबी जन्म आंध्र प्रदेश में हुआ था।

श्रीकांत किदांबी की उम्र कितनी है?

28 वर्ष

श्रीकांत किदांबी के कोच कौन है?

पुलेला गोपीचंद

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.