TNCP क्या है? इसे शहरी विकास का मास्टर प्लान क्यों कहा जाता है?

TNCP शब्द या तो आपने ना सुना होगा ना पढ़ा होगा अथवा पढ़ा होने की स्थिति में भी रोचक ना मानकर ध्यान ना दिया गया होगा परंतु प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से यह हमारे शहर व ग्राम क्षेत्र को मुख्य रूप से प्रभावित करता है आइए जानते हैं कैसे —

TNCP क्या है? | Town and Country Planning in Hindi

TNCP का फुलफॉर्म Town and Country Planning है TNCP से तात्पर्य नगर एवं ग्राम क्षेत्र के विकास के लिए बनाई गई योजना से है, जिसमें भौतिक सुविधाओं को ध्यान में रखकर स्थान आरक्षित कर विकास की आधारशिला रखी जाती है। जैसे किसी मकान के निर्माण पूर्व उसका नक्शा तैयार किया जाता है जिसमें उपयोग अनुसार स्थान चयन किया जाता है।

ये भी पढ़े – Tata ने Air India को क्यों ख़रीदा?

शहरी एवं ग्राम निवेश “एक व्यवस्थित विकास की परिकल्पना”

Town and Country Planning

TNCP की आवश्यकता क्यों है?

किसी भी ग्राम अथवा शहर की आबादी समय के अनुसार बढ़ती जाती है जिसका संख्यात्मक आभास प्रत्येक 12 वर्ष उपरांत होने वाली जनगणना में हमें प्राप्त होता है इस बढ़ती हुई जनसंख्या के साथ व्यक्ति की मूलभूत आवश्यकताएं जैसे भूमि का उपयोग भी बढ़ता जाता है परंतु किसी क्षेत्र विशेष का आकार सीमित होने के कारण उसके संसाधनों पर दबाव बढ़ता जाता है इस स्थिति में शहर व ग्राम की प्रस्तावित योजना ना होने की स्थिति में गंभीर समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। ऐसी परिस्थिति से निपटने के लिए संपूर्ण क्षेत्र के भविष्य के स्वरूप जनसंख्या व मूलभूत सुविधाओं को ध्यान में रखकर एक व्यवस्थित विकास का खाका तैयार करना आवश्यक ही नहीं अपितु अनिवार्य हो जाता है।

TNCP के लाभ

  • व्यवस्थित विकास की परिकल्पना में सहायक।
  • आवासी एवं व्यवसायिक गतिविधियों का स्थान अनुसार नियमन।
  • भविष्य में होने वाली भीड़-भाड़, जाम तथा जल प्लावन जैसी समस्याओं का निराकरण।
  • अधिक व्यवहारिक व सुविधा युक्त क्षेत्र का विकास।
  • ग्राम के शहरीकरण में अत्यंत सुगमता।
  • पर्यावरण का न्यून दोहन कर बढ़ती हुई जनसंख्या के साधनों का सृजन।
  • नवीन मार्गों का आवश्यकतानुसार मिलाप तथा निर्माण।
  • छोटे नगरों का महानगरों के रूप में विकसित कर रोजगार संबंधी विषयों का व्यापक कार्य।

TNCP की विकास में भूमिका

किसी शहर अथवा ग्राम क्षेत्र का विकास वहां उपस्थित मूलभूत सुविधाओं जैसे परिवहन के साधन, खेल का मैदान, आवासीय व व्यवसायिक प्रयोजन, मार्गों की सुगमता आदि पर निर्भर करता है जो क्षेत्र विशेष की दशा व दिशा तय करता है अतः भविष्य में आबादी की स्थिति, तत्कालीन आवश्यकता को ध्यान में रखकर शहर व ग्रामीण क्षेत्र का विस्तृत नक्शा तैयार किया जाता है इसे “मास्टर प्लान” कहा जाता है इसके अंतर्गत विभिन्न क्रियाकलापों हेतु भूमि के उपयोग को स्थान चयन कर आरक्षित किया जाता है।

उदाहरण के तौर पर राष्ट्रीय राजमार्ग के समीप व्यवसायिक गतिविधियों का स्थान, मुख्य आंतरिक मार्ग के समीप आवासीय तथा खेल के मैदान शहर के बाह्य भाग में खेती हेतु स्थान आरक्षित किया जाता है मास्टर प्लान में दर्शाए स्थान आरक्षण के अनुसार ही उस स्थान पर गतिविधि संचालन की अनुमति प्रदान की जाती है। शहरी तथा ग्राम निवेश के अंतर्गत मुख्य नगरीय क्षेत्र के साथ समीपस्थ स्थित ग्रामों को भी सम्मिलित किया जाता है क्योंकि भविष्य के परिदृश्य में उनके भी शहर में सम्मिलिन की संभावना होती है।

TNCP कैसे आम व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है?

आमतौर पर हमने अखबारों में अवैध कॉलोनियों के बारे में पढ़ा होगा परंतु क्या कभी सोचा है कि यह कालोनियां अवैध कैसे हैं अवैध कॉलोनी से तात्पर्य उन आवासीय प्रयोजन से है जो शहर व ग्राम निवेश के तैयार नक्शे में दर्शाए आवासीय प्रस्तावित स्थान से अन्यत्र स्थान पर बनाई गई है।

उदाहरण के तौर पर कृषि हेतु शहर से बाहर आरक्षित भूमि पर आवासीय कॉलोनी का निर्माण अथवा व्यवसायिक गतिविधि का संचालन अवैध श्रेणी के अंतर्गत आता है।

मनुष्य के तौर पर भूमि हमारी प्राथमिक आवश्यकता है इसके लिए हम आजीवन धन संचय कर न्यूनतम भुगतान के साथ इसे प्राप्त करना चाहते हैं। इन्हीं कारणों के प्रभाव से हम मास्टर प्लान के प्रयोजन से इतर इसी संपत्ति क्रय करते हैं जिसके हमें हानिकारक प्रभाव अवैध परिणाम के रूप में परिलक्षित होते हैं इन्हीं समस्याओं से बचाव हेतु शहरी एवं ग्राम निवेश द्वारा भूमि उपयोग संबंधी मास्टर प्लान नक्शा सार्वजनिक दर्श हेतु जारी होता है। 

TNCP मैप में कलरों के अनुसार क्षेत्र

इस मास्टर प्लान में अलग-अलग भूमि उपयोग हेतु विभिन्न रंगों जैसे कृषि क्षेत्र हेतु हरा रंग आवासीय प्रयोजन हेतु नारंगी रंग व्यवसायिक गतिविधि हेतु नीला रंग मुख्य मार्ग हेतु काला रंग आदि का उपयोग किया जाता है इस प्रकार शहरी एवं ग्राम निवेश द्वारा क्षेत्र विशेष की भविष्य की परिकल्पना पर आधारित वर्तमान विकास कार्य योजना को अंगीकार किया जाता है।

TNCP से जुड़े कुछ सवाल जवाब

TNCP क्या है?

TNCP से तात्पर्य नगर एवं ग्राम क्षेत्र के विकास के लिए बनाई गई योजना से है, जिसमें भौतिक सुविधाओं को ध्यान में रखकर स्थान आरक्षित कर विकास की आधारशिला रखी जाती है।

TNCP का Full Form क्या है?

Town and Country Planning

मास्टर प्लान क्या है?

TNCP द्वारा भविष्य में आबादी की स्थिति, तत्कालीन आवश्यकता को ध्यान में रखकर शहर व ग्रामीण क्षेत्र का विस्तृत नक्शा तैयार किया जाता है इसे ही “मास्टर प्लान” कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.